परिवर्तन जीवन का आधार …..!

              दुनियां में अगर कुछ भी स्थायी है,तो वह है परिवर्तन | परिवर्तन अवश्यम्भावी है क्योंकि परिवर्तन प्रकृति का नियम है।संसार में कुछ भी अपरिवर्तनशील नहीं है। सब कुछ नश्वर और क्षणभंगुर है। अथार्थ संसार में कोई भी पदार्थ नहीं जो स्थिर रहता है। उसमें कुछ न कुछ परिवर्तन सदैव होता रहता है।जीवन हमेशा एक-सा…

Read More

व्यक्तित्व विकास ****

हर मनुष्य का अलग-अलग व्यक्तित्व होता है, वही उसकी पहचान भी है। कोटि-कोटि मनु्ष्यों की भीड़ में भी वह अपने निराले व्यक्तित्व के कारण पहचान लिया जाता है । यही उसकी विशेषता भी है और व्यक्तित्व भी । प्रकृति का यह नियम है कि एक मनुष्य की आकृति दूसरे से भिन्न है। यह जन्मजात भेद आकृति तक…

Read More

बचत से आपका परिवार खुशहाल हो सकता है ……..

वर्तमान में लोगों की आमदनी बढ़ने के साथ-साथ जीवनशैली और खर्च करने की आदत में भी जबरदस्त बदलाव आया है। उत्पादों के लुभावने विज्ञापन और धुआधार मार्केटिंग में प्रत्येक उत्पाद की ब्राण्ड यह दावा करती है कि वो ही बाजार में सर्वश्रेष्ठ है। इसी कारण आम आदमी खर्च करने की इच्छा पर नियंत्रण नही रख…

Read More

जीवन में आनन्द प्राप्ति के साधन

“आप अपना सोच बदल दीजिए, आप की दुनिया बदल जाएगी।“ आप स्वयं अपने जीवन में आजमाकर देखिये क्योंकि धन से आज तक किसी को खुशी नहीं मिली और न ही मिलेगी, जितना अधिक व्यक्ति के पास धन होता है, वह उससे कहीं अधिक चाहता है। धन रिक्त स्थान को भरने के बजाय शून्यता को पैदा…

Read More