पुलवामा में हुये आतंकवादी हमले में शहीद भारतीय जवानों को श्रद्धांजलि एवं परिवार के प्रति सवेंदना

यस बैंक : अब फिर से यस

            बाजार लगातार छठे दिन भी गिरावट का दौर जारी रहा | दिन का कारोबार समाप्ति पर सेंसेक्स 36000 अंको के स्तर को तोड़ते हुये 157 अंकों की गिरावट के साथ 35,876 अंक पर और निफ्टी 47 अंकों की गिरावट के साथ 10,746 पर कारोबार कर बंद हुआ है।

           आज के कारोबार में यस बैंक का शेयर हीरो रहा | यस बैंक का शेयर BSE पर रू.51.95(30.73%) के भारी उछाल के साथ रू.221और NSE पर रू.51.80(30.57%) उछाल के साथ 221.25 रुपए पर बन्द हुआ | शेयर में आयी इस तेजी के कारण यस बैंक का बाजार में पूंजीकरण एक ही दिन में 11900 करोड़ रूपये से बढ़ कर BSE पर 51,114.11 करोड़ हो गया |

यस बैंक के शेयर में तेजी कारण –

–    बैंक के द्वारा बुधवार को वित्त वर्ष 2018 की रिस्क असेसमेंट रिपोर्ट मिलने की जानकारी दी थी। जानकारी के अनुसार भारतीय रिजर्व बैंक को 2017-18 के असेट क्लासिफिकेशन, प्रोविजनिंग में कोई अंतर नहीं पाया है।  

–    बैंक को भारतीय रिजर्व बैंक की क्लीन चिट के बाद अलग-अलग  ब्रोकरेज कंपनियों ने बैंक की रेटिंग में बदलाव करते हुए खरीदारी की सलाह दी है।

–    एसबीआई कैप ने रू.315 के लक्ष्य के साथ खरीदारी की सलाह दी है।

–    जेफरीज ने रू.275 के टारगेट प्राइस के साथ खरीदारी की सलाह दी है।

–    मोतीलाल ओसवाल ने शेयर  पर खरीदारी की सलाह दी है |

–    बैंक का दिसम्बर तिमाही का मुनाफा पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के 1076.87 करोड़ रुपये के मुकाबले इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनैंशियल सर्विसेज (IL&FS) को दिए गए कर्ज की प्रॉविजनिंग के कारण मामूली कम होकर 1,001.8 करोड़ रुपये रहा है।

–    बैंक ने हाल ही में डॉयचे बैंक (इंडिया) के रवनीत गिल को बैंक का नया प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त किया है |

बैंक का शेयर वर्तमान में अपने 12 माह के उच्चतम स्तर रू.404 से 45% गिर चूका है | प्रत्येक गिरावट पर शेयर को 1 से 2 वर्ष की अवधि के लिए खरीदा जा सकता है |