अब शेयर से नही बाजार से डर लगता है ..!

शेयर बाजार में आये गिरावट के तूफान का विकराल रूप और शेयरों के साथ हुआ कत्लेआम आज भी देखने को मिला | कारोबार के शुरुआत में ही 500 अंक से ज्यादा अंको की गिरावट आते ही बाजार में हाहाकार मच गया | देखते ही देखते चौतरफा भारी बिकवाली का तूफान आ गया जिससे सेंसेक्स 950 और निफ्टी 300 से अधिक अंको से धरासाई हो गये |  सरकार द्वारा आम जनता को डीजल/पेट्रोल में 5 रू राहत देने का फार्मूला भी बाजार को रास नही आया क्योंकि डीजल/पेट्रोल के मूल्यों में 1 रू. की कमी का बोझ तेल कम्पनियों पर डाला है | कारोबार खत्म होने पर यह 806 अंक गिरकर 35,169.16 अंक पर बन्द हुआ | निफ्टी भी 259 अंक गिरकर 10,599.25 अंक पर बंद हुई |

आज की गिरावट के कारण

  • रुपये में चल रही गिरावट का नही थमना
  • क्रूड में उछाल
  • विदेशी निवेशकों की भारी बिकवाली
  • बॉन्ड यील्ड में बढ़ोतरी
  • चालू खाता घाटा बढ़ने की चिंता
  • वैश्विक और एशियाई बाजारों में कमजोरी
  • इंफ्रा सेक्टर में छाई सुस्ती

          गिरते रुपये और उबलते तेल ने बाजार के सेंटिमेंट को अत्यधिक कमजोर कर रहा है | अधिकांश एशियाई व अन्य उभरते हुए बाजारों की करेंसी स्थिर रही हैं | अमेरिका और चीन के ट्रेडवार, इटली के संकट का भी बाजार को भय है बाजार में भय है और मन्दी के इस माहौल में हर आम निवेशक को अब शेयर से नही बाजार से डर लगने लगा है | और वह  निवेश के  सुरक्षित विकल्पों की तलाश करने लगा हैं |

          आगे बाजार में क्या रुख रहेगा ? क्या बाजार में अभी गिरावट बाकी है ? रूपया कहा जाकर रुकेगा ? इसका जवाब बाजार के किसी भी एक्सपर्ट के पास नही है | लेकिन यह गिरावट मजबूत आधार वाली कम्पनियों में लम्बी अवधि निवेश करने का  एक सुअवसर है |

 

Leave a Comment