शेयर बाजार में आया  भूचाल……..

चन्द मिनटो में सेंसेक्स टूटा 1100 अंको से ज्यादा……

लुटा हुआ निवेशक आम निवेशक, अब क्या करें……!

शेयर बाजार में आज सप्ताह के अन्तिम कारोबारी दिवस में हाहाकार मच गया। सेंसेक्स में   आये अचानक भूचाल से 37150 अंको से 1150 अंको से अधिक की गिरावट के साथ 35993 के स्तर पर आ गया और निफ्टी 10866.45 तक गिर गई | बाजार के जानकर अचानक आई इस गिरावट  कारणों का पता लगाते उससे पहले ही अचानक रिकवरी भी आगई और आज के कारोबार समाप्ति पर मात्र संसेक्स 279.62 की गिरावट के साथ 36841.60 अंको पर और निफ्टी 91.25 अंक खोने के बाद 11143.10 पर  बन्द हुआ |

जानकर इस गिरावट के पुख्ता कारणों को नही बता पा रहे है | आज की यह गिरावट फाइनेंशियल और हाउसिंग फाइनेंस सेक्टर की कम्पनियों के शेयरों की जबरदस्त पिटाई के कारण हुई | जिसमे दीवान हाउसिंग फाइनेंस के शेयर में सबसे ज्यादा भारी गिरावट हुई है | दिन के कारोबार के दोरान यह शेयर  में 50 फीसदी तक टूटकर तकरीबन 2 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है | इसके अलावा इस सेक्टर की अन्य हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों में भी जोरदार गिरावट आई, जिसमे इंडियाबुल्स फाइनेंस के शेयर में 12 फीसदी की गिरावट आना भी है |

बाजार के जानकर गिरावट के पीछे कंपनियों के बॉन्ड रीपेमेंट डिफॉल्ट की खबर को प्रमुख कारण बता रहे है | वही दूसरी और कम्पनियों के उच्च अधिकारी कम्पनियों के फंडामेंटल पर कोई असर नहीं होने और इसे काफी मजबूत होना बता रहे है | बाजार के जानकार इस गिरावट के पीछे कोई बड़ा फंडामेंटल कारण होना नहीं मान कर IL&FS की खबर और दूसरा हाउसिंग फाइनेंस के लिए लागत बढ़ने को मान रहे  है ।

आज के बाजार में यस बैंक के CEO राणा कपूर के कार्यकाल घटने के बाद शेयर में सबसे ज्यादा गिरावट देखी गई जो कारोबार के दोरान 34%तक गिरा और अंत में 29% की भारी गिरावट के बाद 226.50 पर बन्द हुआ । बजाज फायनेंस के शेयर में भी आज अच्छी पिटाई देखने को मिली |

दिन के दोरान की यह गिरावट नोट बन्दी के बाद की सबसे बड़ी गिरावट थी जिसे देख कर हर आम निवेशक डरा और घबराकर इस गिरावट में लाभ के अवसरो को पकड़ना ही भूल गया और  स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहा है | निवेशक निर्णय नही कर पा रहा है कि आगे अब बाजार की चाल क्या रहेगी ? क्या बाजार में जो गिरावट होनी थी वह होगयी या अभी और बाकी है ?

जो भी हो, इस गिरावट को मजबूत फंडामेंटल वाली कम्पनियों के शेयरों में लम्बी अवधि के निवेश करने हेतु सुअवसर के रूप में लिया जा सकता है |

Leave a Comment