दिवालियापन का सामना कर रही कंपनी रुचि सोया के कर्जदाताओं  ने 96 फीसदी वोटिंग के साथ अडानी विल्मर की बोली को स्वीकृति देकर  योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि के रुचि सोया को खरीदने की चाहत पूरी होने पर विराम लगा दिया  है |

रुचि सोया न्यूट्रिला और सनरिच तेल बनाती है| कंपनी के प्रमुख ब्रांडों में न्यूट्रिला, महाकोश, सनरिच, रुचि स्टार और रुचि गोल्ड शामिल हैं। रुचि सोया पर कुल 12,000 करोड़ रुपए का कर्ज है। कंपनी के कई विनिर्माण संयंत्र हैं।

अडानी विल्मर 6,000 करोड़, जबकि 5,700 करोड़ की बोली के साथ पतंजलि के द्वारा लगायी गयी | इस प्रकार अडानी ग्रुप और सिंगापुर की कंपनी विल्मर इंटरनेशनल के जॉइंट वेंचर अडानी विल्मर की ओर से लगाई गई 6,000 करोड़ रुपये की बोली मंजूर हुई | अब रेजॉलुशन प्रोफेशनल को आगे बढ़ने के लिए एनसीएलटी की मंजूरी लेनी होगी |

डील समाचार से इस शेयर में तेजी आंने लग गयी जो आगे भी जारी रह सकती है |

 

Leave a Comment